जब दो अलग-अलग नस्लों का वैज्ञानिकों ने ज़बरदस्ती कराया मिलन तो पैदा हुए ये 18 नए जानवर

(Last Updated On: July 30, 2018)

विज्ञान ने आज इतनी तरक्की कर ली है कि अब वैज्ञानिक अपनी मर्ज़ी से नई नस्ल के जीव पैदा करने लगे हैं। आज हम आपके सामने 18 ऐसे जीवों को लेकर आए हैं जो कुदरत के साथ किए गए प्रयोगों का नतीजा हैं। तो दोस्तों, दिल थाम कर देखिए बिल्कुल नई नस्ल के इन 18 जानवरों को।

बीफैलो (भैंसा + गाय)

पश्चिमी देशों में लोग मांस खाने के बेहद शौकीन होते हैं। इन देशों में गाय हो या भैंस, इन दोनों का ही मांस खाया जाता है। वैज्ञानिकों ने लोगों के मांस खाने के इसी शौक को देखते हुए एक नए और भीमकाय जानवर को इजाद करने की योजना बनाई। वैज्ञानिकों ने गाय और भैंसे की क्रॉस ब्रिडिंग कराई। उसके नतीजे में जो जानवर मिला, उसको ही वैज्ञानिक बीफैलो या कैटैलो कहते हैं। आज ऐसे चार बीफैलो मौजूद हैं।

कामा (नर ऊंट + मादा लामा)

ऊंट और मादा लामा के शुक्राणू और अंडाणू लेकर वैज्ञानिकों ने वैज्ञानिक तरीके से एक नई नस्ल की उत्पत्ति की, जिसको नाम दिया गया कामा। साल 1998 में दुबई में ऐसा पहली बार किया गया था। मकसद था इनका मांस और इनका फर हासिल करने का। लेकिन वैज्ञानिकों का ये प्रयास अधिक सफल नहीं हो पाया और केवल 5 ही कामा को पैदा किया जा सका।

कोयवुल्फ (नर सियार + मादा भेड़िया)

सियार और भेड़िये के मिलन से वैज्ञानिकों ने पैदा किया एक नई नस्ल का जानवर जिसको नाम दिया गया कोयवुल्फ। कोयवुल्फ दिखने में बिल्कुल किसी भेड़िये की तरह ही दिखता है लेकिन इसके खाने की आदतें और इसका बर्ताव बिल्कुल किसी सियार के जैसा होता है।

डीज़ो (गाय + नर याक)

तिब्बत और मंगोलिया के कुछ इलाकों में दूध और मांस की आपूर्ति को बढ़ाने के लिए वैज्ञानिकों ने गाय और नर याक का मिलन कराकर एक नई नस्ल को पैदा किया। हैरानजनक रूप से ये नई नस्ल गाय और याक दोनों से ही बहुत अधिक ताकतवर और विशाल है। आज डीज़ो तिब्बत, चीन और मंगोलिया के इलाकों में खूब प्रचलन में है।

 

जीप (बकरी + नर भेड़)

बकरी और नर भेड़ के मिलन से पैदा हुआ जीप एक बिल्कुल नई नस्ल का जानवर है। इसका इस्तेमाल दुनिया के कुछ इलाकों में मांस की आपूर्ति करने के लिए सफलतापूर्वक हो रहा है।

ग्रोलर भालू (नर पोलर भालू + मादा ब्राउन भालू)

इनको पिज़ली भालू भी कहा जाता है। आज ज़्यादातर पिज़ली भालू या ग्रोलर भालू दुनियाभर के कई चिड़ियाघरों में ही रहते हैं। लेकिन इनमें से कुछ ने जंगली इलाकों में भी सफलतापुर्वक रहने की उपलब्धि हासिल की है।

 

 

हिन्नी (मादा गधा + नर घोड़ा)

कुछ लोग इसको खच्चर समझने की भूल कर बैठते हैं, लेकिन खच्चर में इसके ठीक उलट होता है। खच्चर में मादा घोड़ा और नर गधा होता है। वैज्ञानिकों ने ये प्रयोग अधिक दिनों के लिए नहीं किया। आज दुनिया में सिर्फ गिनती के ही गिन्नी हैं।

जैग्लियन (नर जैगुआर + मादा शेर)

मादा शेर और नर जैगुआर के मिलन से वैज्ञानिकों ने पैदा किया ये नई नस्ल का जानवर जिसको नाम दिया गया जैग्लियन। आज दुनियाभर में सिर्फ दो ही जैग्लियन हैं जो कि कनाडा के क्रीक वाइल्डलाइफ सेंचुरी में रहते हैं। इनके नाम हैं सुनामी और जाहरा।

लियोपोन (नर तेंदुआ + मादा शेर)

नर तेंदुए और मादा शेर के मिलन से ये खूबसूरत जानवर पैदा हुआ जिसको नाम दिया गया लियोपोन का। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि इसके अंदर दोनों की ही विशेषताएं हैं। सारी दुनिया में सिर्फ एक ही लियोपोन है।

मुलर्ड (मलर्ड + मस्कोवी बत्तख)

मुलर्ड और मस्कोवी, दोनों अलग-अलग नस्ल की और अलग अलग इलाकों में रहने वाली बत्तखों की प्रजाति हैं। इन बत्तखों के रहने के इलाकों की जलवायू भी एक जैसी नहीं है। बत्तख की इन दोनों नस्लों के मिलन से वैज्ञानिकों ने मुलर्ड नाम की नई बत्तख पैदा की हो हैरानजनक रूप से दोनों तरह की जलवायू में रह सकती है।

 

नरलुगा (नरव्हल + बेलुगा)

खतरनाक नलव्हल मछली और बेलुगा व्हेल के मिलन से इन नई नस्ल की मछली को पैदा किया गया। आज इनकी तादाद तेज़ी से बढ़ रही है।

सवान्नाह बिल्ली (घरेलू बिल्ली + जंगली सर्वल बिल्ली)

घरेलू बिल्ली और जंगली सर्वल बिल्ली के मिलन से वैज्ञानिकों ने एक नई नस्ल को जन्म दिया जिसको नाम दिया गया सवान्नाह बिल्ली। आज इस बिल्ली को दुनिया की सबसे मंहगी बिल्लियों में गिना जाता है। इस बिल्ली में आम घरेलू बिल्लियों की तरह पानी का डर नहीं होता, साथ ही ये बिल्ली कुत्तों की तरह अपने मालिक के साथ अधिक वक्त बिताना पसंद करती है।

 

टाइगन (नर टाइगर + मादा शेर)

मादा शेर और नर भारतीय टाइगर के मिलन से नई नस्ल की बिग कैट पैदा की गई जिसको नाम दिया गया टाइगन। दुनिया के कई चिड़ियाघरों में इन नई नस्ल को आम लोगों के देखने के लिए रखा गया है।

लाइगर (नर शेर + मादा टाइगर)

नर अफ्रीकी शेर और मादा भारतीय टाइगर के मिलन से एक भीमकाय। जानवर पैदा हुआ, जिसको नाम दिया गया लाइगर। लाइगर आज दुनिया की बसे विशाल बिग कैट है। इसका वज़न 410 किलो तक होता है।

 

वॉल्फिन (नर किलर व्हेल + मादा बॉटलनोज़ डॉल्फिन)

नर किलर व्हेल और मादा बॉटलनोज़ डॉल्फिन के मिलन से वैज्ञानिकों ने मछली की एक नई प्रजाति इजाद की, जिसको नाम दिया गया वॉल्फिन का। आज दुनिया में सिर्फ एक वॉल्फिन मौजूद है।

ज़िब्रोइड (मादा ज़िब्रा + नर घोड़ा)

ज़िब्रोइन का ज़िक्र अपने वक्त में मशहूर जीव विज्ञानी रहे डार्विन ने भी किया था। मादा ज़िब्रा और नर घोड़े के मिलन से पैदा हुआ ये नई नस्ल का जानवर घोड़ों के मुकाबले अधिक एग्रेसिव होता है।

जॉन्की (नर ज़िब्रा + मादा गधा)

ज़िब्रोइड की तरह ही इसमें भी ज़िब्रा का प्रयोग किया गया लेकिन इस बार ज़िब्रा नर था। ये जानवर भी ज़िब्रा के गुणसूत्रों के कारण काफी हद तक ज़िब्रोइड के जैसा ही है। ये बस आकार में उससे थोड़ा छोटा होता है।

ज़ुब्रॉन (गाय + यूरोपिय जंगली भैंसा)

इस नई नस्ल को इसलिए इजाद किया गया था ताकि दूध और मांस की आपूर्ति को बढ़ाया जा सके लेकिन कुछ तकनीकि दिक्कतों के चलते इनका प्रॉडक्शन रोकना पड़ा। आज कुछ ही ज़ुब्रॉन पोलैंड के बेलोविस्की नेशनल पार्क में मौजूद हैं।