कोतवाली में ‘दरोगा’ ने काट ली गर्दन, गंभीर हालत में लखनऊ रेफर

उत्तर प्रदेश के हरदोई में जिले में गुरुवार शाम एक युवक पुलिस कस्टडी में अपनी गर्दन काट ली। खून से लथपथ युवक को देख पुलिसकर्मी सीएचसी ले ले गए। यहां से युवक को गंभीर हालत में लखनऊ रेफर कर दिया गया। बुधवार की देर रात पुलिस मल्लाहन पुरवा निवासी युवक दरोगा को अवैध असलाह के साथ पकड़कर लाई थी। उसे रात से पुलिस थाने में बैठाये रही। गुरुवार की शाम को उसने किसी धारदर हथियार से अपनी गर्दन काट ली। जैसे ही पुलिस वालों ने उसके खून बहते देखा तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उसको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मल्लावां ले जाया गया जहां से उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

इस संबंध में एएसपी अनिल सिंह के मुताबिक पूरा प्रकरण संज्ञान में नहीं है। फिलहाल कोतवाली के अंदर गर्दन काटने का मामला गंभीर है। पूरे प्रकरण की जांच करा कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जो दोषी व्यक्ति होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कोतवाल बोले गर्दन नहीं काटी, गांव में मारपीट करने पर लगी थी चोट

मल्लावां कोतवाली में पुलिस कस्टडी में युवक के गर्दन काटने की बात कोतवाल ब्रजेश सिंह ने नकार दी है। उनका कहना है कि दरोगा नामक युवक शराब पीने का आदी था। उसे गुरुवार शाम को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजा गया था। गांव में हुई मारपीट में ही उसको चोट लगी थी। कोतवाली में युवक के गर्दन काटने की बात सरासर गलत है।

कोतवाली में कहां से आया धारदार हथियार, उठ रहे सवाल 

मल्लावां कोतवाली में गुरुवार को पुलिस कस्टडी परिसर में युवक के गर्दन काटने का मामला गर्मा गया है। युवक के पुलिस कस्टडी में इस तरह के गर्दन काटने के मामले में सवाल उठने लगे हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस कस्टडी में युवक के पास धारदार हथियार कहां से आया यह जांच का विषय है। लोगों ने मामले में कोतवाल ब्रजेश सिंह पर लापरवाही का आरोप लगाया है। हालांकि युवक को गंभीर हालत में लखनऊ के लिए रेफर कर दिया है। अपर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार को मामले की जांच सौंपी गई है। जांच के बाद दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।