चंद्रयान-2 की लैंडिंग का गवाह बनेगा नोएडा का ये छात्र, पीएम मोदी भी रहेंगे मौजूद

नोएडा के एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के छात्र शिवांश पाल का चयन चंद्रयान -2 की लैंडिंग को देखने के लिए आमंत्रित किया गया है। ऑनलाइन प्रतियोगिता में विजेता बनने के बाद इसरो ट्रैकिंग सेंटर में शिवांश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलने का मौका मिलेगा। समारोह से वापस आने के बाद शिवांश अपने अनुभव स्कूल में भी साझा करेगा।

एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के कक्षा दस में पढ़ने वाले शिवांश नोएडा सेक्टर-50 में रहते हैं। उनके पिता संजय पाल भी एक इंजीनियर हैं। एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार चौहान ने जानकारी दी कि दस अगस्त से 25 अगस्त तक चलने वाली ऑनलाइन प्रतियोगिता में शिवांश का चयन किया गया है।

 इस प्रतियोगिता में अंतरिक्ष के बारे में प्रतिभागियों की जानकारी परखी गई थी। छात्र शिवांश ने जानकारी दी कि प्रतियोगिता के दौरान कम समय में अधिक सवालों का जवाब दिया जाना स्पर्धा में विजेता बनने का पैमाना था। उन्होंने बताया कि उन्हें इस खास कार्यक्रम के लिए सभी नियमों की जानकारी दी गई है। वे शुक्रवार को इसरो पहुंचेंगे। इसके बाद तय समय पर प्रधानमंत्री के साथ यान को उतरते हुए देखेंगे। शिवांश ने कहा कि वह प्रधानमंत्री के लिए गिफ्ट ले जाना चाहते थे, लेकिन निर्देशों के अनुसार वह अपने साथ कुछ नहीं ले जा सकते। प्रधानमंत्री से मुलाकात एक सपना है, जो पूरा होगा। उनसे मुलाकात होना जिंदगी का सबसे बड़ा मौका होगा, विज्ञान उसका पसंदीदा विषय है।

छात्रों से साझा करेंगे अनुभव

छात्र ने जानकारी दी कि कार्यक्रम से वापस आने के बाद वे अपने अनुभव स्कूल के अन्य छात्रों के साथ साझा करेंगे। इसके लिए स्कूल में कई शिक्षकों ने उनसे कहा है। इसके अलावा वे या तो प्रार्थना सभा या फिर किसी अन्य तरह के स्कूल में होने वाले कार्यक्रम का इंतजार करेंगे। स्कूल की ओर से उनके इस कार्यक्रम के लिए उन्हें काफी सहयोग दिया गया है।

विज्ञान में करियर बनाएंगे

शिवांश ने बताया कि उनका पहला लक्ष्य दसवीं व बारहवीं में बेहतर प्रदर्शन करना है। वे भविष्य में विज्ञान क्षेत्र में कार्य करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने तैयारी शुरू कर दी है। उनका मानना है कि विज्ञान एक ऐसा विषय है जिसमें समाज के लिए कई तरह की बेहतर आविष्कार किए जाने की संभावना हर समय बनी रहती है।