रातोंरात न जानें कहां गायब हो गया 100 साल पुराना बरगद का पेड़, लोगों ने दर्ज कराई FIR

ये इंडिया है भाईजान यहां कुछ भी हो सकता है. आप सोच रहे होंगे हम ऐसे क्यों बात कर रहे हैं. तो ये खबर पढ़ लो खुद समझ जाओगे.

हुआ यूं कि बेंगलुरू से रातों-रात एक 100 साल पुराना बरदग का पेड़ गायब होने की खबर आई है. जब सुबह लोगों ने देखा तो एक अज्ञात व्यक्ति के ख़िलाफ़ पेड़ को कुल्हाड़ी से काटने की शिकायत भी दर्ज करवा दी.

इस हैरान करने वाले मामले पर निवासियों ने रिपोर्ट में कहा कि ये घटना महज़ एक रात की नहीं हो सकती, क्योंकि पेड़ 100 साल पुराना और काफ़ी बड़ा था.

राज्य प्रकाशित अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, एक स्वंयसेवक का कहना है कि पेड़ काटे जाने पर स्थानीय लोगों को कई तरह के संदेह हैं. कुछ लोगों का मानना है कि पेड़ जानबूझ कर काटा गया, तो कोई ये काम वनअधिकारियों का बता रहा है. इसके साथ ही कुछ लोग एक पास के दुकानदार पर भी शक़ कर रहे हैं.

वहीं जब संवादाताओं ने पुलिस अधिकारियों से बातचीत की तो उनका कहना है कि मामले पर प्राथमिक शिकायत दर्ज कर ली गई है और इसकी जांच चालू है, साथ ही जल्द ही अपराधी उनकी गिरफ़्त में होगा.

भविष्य में ऐसा दोबारा न हो इसके लिए व्हाइटफ़ील्ड के आसपास के स्थानीय लोगों ने उन पेड़ों पर निशान लगाना शुरु कर दिया है, जो आने वाले समय में इमारतों के चलते काटे जा सकते हैं. इतना ही नहीं, स्थानीय लोगों ने Environmentalist विजय निशांत की मदद से वृक्ष जनगणना करने की एक योजना भी बनाई है.