बीकानेर लैंड डील: जयपुर के ED कार्यलय पहुंचे वाड्रा, माँ और प्रियंका भी साथ मौजूद

जयपुर में आज चर्चित बीकानेर मनी लॉन्डरिंग केस में प्रियंका गाँधी के पति रॉबर्ट वाड्रा से पूछ-ताछ चल रही है. आप को बताते चले की आज प्रवर्तन निदेशालय ने रॉबर्ट वाड्रा और उनकी माँ मौरीन को मनी लॉन्डरिंग के मामले में पूछताछ के लिए बुलाया है. रॉबर्ट वाड्रा की मां मौरीन वाड्रा भी उस फर्म में पार्टनर हैं, जिसने ज़मीन का सौदा किया था. इस दौरान उनके साथ प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद थीं. प्रियंका जब ईडी दफ्तर के बाहर पहुंचीं तो वहां मौजूद समर्थकों ने प्रियंका गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए प्रवर्तन निदेशालय के सामने पोस्टर भी लगाए गए हैं. जिसमें प्रियंका गांधी, उनके पति रॉबर्ट वाड्रा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी है. पोस्टर में उनके समर्थन में नारे लिखे गए हैं. जानकारी के अनुसार लखनऊ में रोड शो के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा देर रात जयपुर पहुंच गईं. इससे पहले जब ईडी ने दिल्ली में रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ की थी, तब भी प्रियंका पति को प्रवर्तन निदेशालय के ऑफ़िस तक उन्हें छोड़ने और लेने गई थीं.

priyanka gandhi
रिपोर्ट्स की मानें तो काग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति से ईडी आज फिर गहन पूछताछ कर सकती है. उनसे लंदन के बाद दुबई में खरीदे 14 करोड़ की संपत्ति से जुड़े सवाल भी पूछे जा सकते हैं. बेनामी ट्रांजेक्शन और मनी लॉन्डरिंग के जरिए विदेशों में संपत्ति खरीदने के आरोपी वाड्रा की मुश्किलें अभी कम होती नज़र नहीं आ रही है.राजस्थान उच्च न्यायालय ने वाड्रा और उनकी मां को ईडी के साथ सहयोग करने के आदेश दिए थे, जिसके बाद ईडी ने उनके खिलाफ नया समन जारी किया था.इस मामले में पहले वाड्रा ने एजेंसी द्वारा भेजे गए तीन समन का जवाब नहीं दिया था.

ये भी पढ़ें : पीएम मोदी से लेकर किम जोंग उन तक, इन ब्रांड्स का चश्मा पहनना पसंद करते हैं दुनिया के ताकतवर नेता

जांच प्रक्रिया से जुड़े कुछ लोगो ने बताया कि स्काईलाइट इनवेस्टमेंट एफजेडई, दुबई के साथ अपनी कंपनी के किसी तरह के संबंध होने से वाड्रा ने इनकार किया हालांकि, जांच टीम वाड्रा के जवाब से बिल्कुल असंतुष्ट रही और दोबारा सवाल पूछने के लिए बुलाया गया.इससे वाड्रा में थोड़ी नाराज़गी दिखी. सूत्रों की मानें तो स्काईलाइट के नाम से मिलते स्ट्राइकिंग कंपनी को लेकर वाड्रा से पूछताछ की जाएग. भारत में वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से रजिस्टर्ड है. वही वाड्रा पर राजस्थान के बीकानेर और गुडगाँव में फर्जीवाड़ा कर ज़मीन खरीदने का आरोप है.

वाड्रा और उनकी मां के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम के तहत बयान दर्ज कियाजायेगा. मीन आवंटन में कथित फर्जीवाड़े को लेकर बीकानेर तहसील द्वारा दर्ज शिकायत पर आरोप-पत्र और एफआईआर दर्ज की गयी थी, जिसकी प्रक्रिया पूरी करने के बाद ईडी ने बीकानेर जमीन सौदा मामले में 2015 में आपराधिक मामला दर्ज किया था.