कर्नाटक के मुस्लिमों ने राम-नवमी पर भक्तों के लिए बाटें जूस, सोशल मीडिया पर हो रही तारीफ

KA

हमारा देश गंगा-जमुनी तहजीब का वह संगम माना जाता है जहां हर धर्म आजादी से गुजर-बसर करता है.

मगर इस तहजीब के बीच में से ही कुछ ऐसे उपद्रवी भी निकलते हैं जो समाज में सिर्फ नफरत फैलाना चाहते हैं. कभी-कभी कुछ हद तक ये सफल भी हो जाते हैं.

लेकिन भारत हमेशा से ही अपनी सभ्यताओं के लिए जाना गया है इन नफरत फैलाने वालों पर समाज के बड़े तबके ने हमेशा तमाचा ही मारा है.

जाति और धर्म पर बांटने वाले ऐसे ही लोगों के लिए कर्नाटक के मुस्लिमों ने एक मिशाल पेश की है.

दरअसल, कर्नाटक के मुस्लिमों ने राम नवमी के दौरान भक्तों को जूस बांटा. जिसे अभी तक दक्षिण भारत में संप्रदायिक एकता का सबसे बड़ा उदाहरण माना जा रहा है.

दक्षिण भारत के मुस्लिमों द्वारा उठाए गए इस कदम को देशभर में सराहा जा रहा है.

सोशल मीडिया पर भी लोग इससे अछूते नहीं हैं. सोशल मीडिया पर भी लोगों ने इस कदम की जमकर तरीफें की.

 

आपको बता दें कि ऐसा ही एक मामला एक महीने पहले अलीगढ़ से सामने आया था. जब मुस्लिमों ने कावंड ले जा रहे यात्रियों को दूध देकर उनका अभिवादन किया था.

शायद उपद्रवी आगे भी समाज में नफरत फैलाने की कोशिश करेंगे मगर हर हिंदुस्तानी ऐसे संप्रदायिक एकता वाले उदाहरणों को जेहन में रखकर फिर एक बार या यूं कहें हर बार नफरत फैलाने वालों पर मुंह तोड़ वार करेंगे.