रूद्राभिषेक के बाद रवि किशन ने गोरखपुर से भरा नामांकन, बोले- सेवा भी यहीं, शूटिंग भी यहीं

Ravi Kishan

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में नामांकन प्रक्रिया के दूसरे दिन भाजपा प्रत्याशी रविंद्र नारायण शुक्ला उर्फ रवि किशन शुक्ला ने नामांकन पत्र दाखिल किया. उम्मीद जताई जा रही थी कि रवि किशन के नामांकन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचेंगे लेकिन, चुनावी दौरे में व्यस्थता के कारण वह नहीं पहुंच सके. इसके अलावा बांसगांव संसदीय सीट से भाजपा के प्रत्याशी कमलेश पासवान ने भी अपना नामांकन पत्र दाखिल किया.

गोरखनाथ मंदिर में हवन पूजन रुद्राभिषेक के बाद रवि किशन सीधे महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज पहुंचे. यहां पर जनसभा में लोगों का अभिवादन करने के बाद वे ठीक 12:45 बजे के करीब सीधे कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे. प्रस्तावक और समर्थकों के साथ वह जिलाधिकारी के कक्ष में प्रवेश किए. 1:20 बजे उन्होंने नामांकन दाखिल किया. इसके पहले उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यूपी में 74सीटों पर भाजपा जीत रही है. उन्होंने कहा कि मोदी जी और योगी जी के कर्मों का लोगों के अंदर जुनून है.

उन्होंने कहा कि गोरखपुर की पावन धरती पर भी एक उत्तेजना दिखाई दे रही है. 2018 के चुनाव में महज 22 हजार वोटों से भाजपा हार गई थी. उन्होंने कहा कि योगी जी मोदी जी और भारतीय जनता पार्टी की 2019 के चुनाव में जीत होगी.

इसके पहले वे सुबह 8:00 बजे गोरखनाथ मंदिर पहुंचे. यहां पर उन्होंने बाबा के दरबार में मत्था टेका और गोरखनाथ बाबा का आशीर्वाद लिया. इसके बाद वे परिसर स्थित अन्य मंदिरों में भी पूजा-अर्चना करने पहुंचे. भगवान भोलेनाथ के दरबार में विधिवत पूजा-अर्चना और रुद्राभिषेक किया.

रुद्राभिषेक के बाद रवि किशन ने कहा कि यह मंदिर की सीट है और मंदिर में आएगी. यह मेरा वादा है. उन्होंने कहा कि 2018 के कलंक को धोना है. रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल कर वापस मंदिर को सीट दिलानी है. अनुष्ठान के दौरान उन्होंने प्रार्थना की गठबंधन स्वाहा, परिवारवाद स्वाहा, स्वार्थी गठबंधन स्वाहा, लोभी गठबंधन स्वाहा, अवसरवादी राजनीति स्वाहा का नारा लोगों से लगवाया.

भाजपा प्रत्याशी रवि किशन गोरखनाथ मंदिर की परंपरा के अनुसार नामांकन के पहले पूजा और अनुष्ठान करने पहुंचे. उन्हें उम्मीद है कि भारी मतों से जीत के साथ मंदिर की सीट को फिर वापस ले आएंगे.