पुलवामा के 72 घंटों के भीतर ही पाकिस्तान में हुआ बम विस्फोट, पाकिस्तान खुद भी नहीं आतंकियों से सुराक्षित

अभी हाल ही में हुए पुलवामा हमले ने दुनिया भर में काफी सुर्खियां बाटोरी, साथ ही साथ दुनिया भर ने इस आतंकी हमले कि कड़ी निंदा की. भारतीय इस हमले का जिम्मेदार पाकिस्तान को मान रहा है जो कि कछ हद तक सही भी है. पर आपको बता दें कि पुलवामा में CRPF पर हुए हमले के 72 घंटे बाद एक और आर्मी काफिले पर हमला हुआ है, और यह मुल्क कोई और नहीं पाकिस्तान ही है.

खबरों के मुताबिक ये हमला पाकिस्तान के अशांत इलाके बलूचिस्तान में हुआ है. जिसमें 9 जवान मारे गए और 11 जवान घायल हुए हैं. पाकिस्तानी अखबार के मुताबिक ये हमला CPEC रूट पर हुआ.
इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी BRAS (बलोच राजी अजोइ संगर) ने ली है.

ये भी पढ़ें : पुलवामा हमला: प्रधानमंत्री की आपात बैठक शुरु, हो सकते है बड़े फ़ैसले

आपके लिए यह जानना भी बेहद जरूरी है कि BRAS बलूचिस्तान की आजादी के लिए लगातार पाकिस्तानी फोर्सेस के साथ लड़ाई लड़ रही है.सिर्फ इतना ही नहीं BRAS द्वारा किए इस हमले की टाईमिंग को बेहद खास बताया जा रहा है. क्योंकि पाकिस्तान सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का स्वागत कर रहा है.

72 घंटें पहले हुए पुलवामा हमले के बाद से ही पाकिस्तान विश्व स्तर अकेला नजर आ रहा है. जिसके बाद कई देशों ने पाकिस्तान को आतंकवाद पर लगाम लगाने की नसीहत भी दे डाली. जिसके फल-स्वरूप पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मंच पर छवि सुधारने की कोशिश कर रहा है. पर सोचने वाली बात ये है कि क्या पाकिस्तान खुद सुराक्षित है. इस आतंकी हमले ने पाकिस्तान के अंदरूनी हालात की पोल-पट्टी खोल दी.

BRAS के मुख्य प्रवक्ता बलोच खान ने हमले के बाद पूरी जिम्मेदारी ली है, साथ ही पाकिस्तान के दौरे पर आए सऊदी प्रिंस से अपील की है कि पाकिस्तान की किसी भी तरीके से कोई सहायता न करें.

बलोच खान ने बड़े कड़े ही शब्दों में यह संदेश दिया है कि, ” पाकिस्तान एक आतंकी देश है, बलूचिस्तान की राष्ट्रीय पहचान, सभ्यता और अरब के साथ पुराने रिश्तों के मद्देनज़र रखते हुए बलोचों के नरसंहार में भागीदार ना बने’