पाकिस्तान के साथ मिलकर चीन की नई चाल, भारत ऐसे देगा जवाब

चीन ने एक बार फिर पाकिस्तान के साथ मिलकर अपनी नापाक हरकतों को भारत के खिलाफ प्रयोग करने में लगा है. आपको बता दें कि पाकिस्तान ने एक बार फिर चीन का सहारा लेकर कश्मीर का मुद्दा उठाने में लगा हुआ है. वहीं इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में हलचल मच गई है. बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में आज कश्मीर मुद्दे पर बंद कमरे में चर्चा होगी.

गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कश्मीर का मुद्दा चीन द्वारा उठाना दर्शाता है कि इसमें पकिस्तान का पूरा हाथ है. हालांकि इस तरीके के मुद्दे पर भारत पहले भी जवाब दे चूका है. वहीं इससे पहले फ्रांसीसी राजनयिक के ही एक सूत्र ने बताया कि यूएनएससी में कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के लिए चीन की मांग को स्वीकार कर लिया गया है. वहीं उन्होंने आगे कहा कि कश्मीर मुद्दे पर फ्रांस का रुख साफ है. फ्रांस का मानना है कि यह मुद्दा द्विपक्षीय स्तर पर सुलझाया जाना चाहिए.

ज्ञात हो कि-5 देशों में से एक चीन ने मांग की थी कश्मीर पर बंद कमरे पर चर्चा बुलाई जाए. इससे पहले सभी पी-5 देशों ने स्पष्ट किया है कि यह भारत और पाकिस्तान का आंतरिक मुद्दा है. दावा किया जा रहा है कि यह मीटिंग परिणामहीन ही रहने वाली है क्योंकि ज्यादतर देश कश्मीर को भारत और पाकिस्तान के बीच का आंतरिक मुद्दा मानते हैं. भारत वैसे भी किसी भी विदेशी राष्औट्रर के हस्तक्षेप से इंकार करता है. कश्मीर को देश का अभिन्न अंग मानता है. पी5 चीन, फ्रांस, रूस, युनाइटेड किंगडम और यूनाइटेड स्टेट्स का संगठन है.

वहीं इससे पहले चीन ने ‘एनी अदर बिजनेस’ के तहत यह मांग रखी थी. पाकिस्तान ने चीन से पहले ही मांग की थी इस मुद्दे पर चर्चा की जाए. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने दिसंबर 2019 में चीन के सामने यह मांग रखी थी . यह बैठक पहले 24 दिसंबर को होने वाली थी लेकिन किन्हीं कारणों से यह बैठक पूरी नहीं हो सकी थी.