कांग्रेस ने निलंबित किया महिला विधायक को , योगी के तारीफ में की थी टिप्पणी

पार्टी विरोधी गतिविधियों का लगाया गया आरोप।

अपने ही बयानों में घिरी हुई कांग्रेस खुद को बचाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। बताते चलें कि इसी क्रम में कांग्रेस के द्वारा रायबरेली की वर्तमान विधायक अदिति सिंह को पार्टी से हटा दिया गया है।

खबर है कि कांग्रेस के अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से अदिति विधायक हैं। और इस विधायक ने कांग्रेस के प्रवासी कामगारों की मदद करने के लिए बस और वाहन में नंबर की घोटाले को लेकर सवाल खड़े किए थे। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि कांग्रेस सच्चे और ईमानदार लोगों के साथ काम करना पसंद नहीं करती है। उन्हें तो बस वैसे लोग चाहिए जो उनकी चापलूसी कर सकें और उनकी हां में हां मिला कर चल सकें।

हुआ कुछ ऐसा था की अपने किए गए एक ट्वीट में अदिति सिंह के तरफ से यह बयान जारी किया गया था , ” कि आपदा के वक्त ऐसी नियम सियासत की क्या जरूरत 1000 बसों की सूची भेजी उसमें से भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा 297 कबाड़ से 98 ऑटो रिक्शा वाली गाड़ियां 68 वाहन बिना कागजात के यह कैसा क्रूर मजाक है। और जब बसी थी तो राजस्थान पंजाब महाराष्ट्र में क्यों नहीं लगाई। ” अदिति ने इस मामले को लेकर योगी सरकार की भी तारीफ की थी जब योगी सरकार ने कोटा शहर में फंसे अपने प्रदेश के विद्यार्थियों को सबसे पहले सूझबूझ से बाहर निकाला था।

बस फिर क्या था कांग्रेस को यह सच्चाई पच नहीं पाई और उन्हें अपनी विधायक द्वारा किसी और पार्टी के नेता की तारीफ नागवार गुजरी । और उन्होंने अदिति को निलंबित करने का फैसला कर लिया।
आपको बताते चलेगी भाजपा के पक्ष में अदिति ने कई बार अपना मत रखा है ।और प्रधानमंत्री के कहने पर कोरोना वारियर्स के सम्मान के लिए दिया जलाने से लगाए कश्मीर में धारा 370 के हटाने पर भी अदिति का भाजपा के पक्ष में ही बयान था।