दिल्ली में कांग्रेस करेगी उम्मीदवारों का ऐलान, पार्टी ने कहा कि AAP की गठबंधन योजना व्यावहारिक नहीं

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन का समीकरण लगभग तय हो गया था. लेकिन अब गठबंधन की कोई भी संभावना नहीं रही. अब दिल्ली में दोनों ही पार्टियां अब यहां अकेले चुनाव लड़ेंगी. आपको बता दें कि कांग्रेस ने शुक्रवार को गठबंधन पर कहा, ‘अन्‍य राज्‍यों के लिए आप की गठबंधन योजना व्यावहारिक नहीं थी. हम आप के साथ केवल दिल्‍ली में गठबंधन चाहते थे और आप अन्‍य राज्‍यों में भी गठबंधन पर अड़े हुए हैं. इसलिए हमने दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है.

कांग्रेस के दिल्‍ली प्रभारी पीसी चाको ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘आप दूसरे राज्यों में भी गठबंधन करना चाहती थी, जो व्यावहारिक नहीं है. हर राज्‍य के हालात और राजनीतिक समीकरण अलग अलग हैं. वहीं उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस शनिवार या रविवार को दिल्‍ली के उम्‍मीदवारों की घोषणा करेगी. हालांकि उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली में गठबंधन के रास्‍ते अभी भी खुले हुए हैं और ‘हम सीटों पर उम्‍मीदवारों की घोषणा कल या परसों करेंगे. अगर वो दिल्‍ली में गठबंधन करना चाहते हैं तो हम आज भी तैयार हैं.

ये भी पढ़ें : मेनका गांधी ने मुस्लिम वोटर्स को दी धमकी, वोट नहीं तो काम नहीं

गौरतलब है कि गठबंधन को लेकर कांग्रेस पार्टी के दो धड़े में बटी हुई है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही लिखे गए एक पत्र में शीला दीक्षित और कार्यकारी अध्यक्ष हारून यूसुफ, दवेंद्र यादव और राजेश लिलोठिया ने गठबंधन पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मूड जानने के लिए फोन सर्वेक्षण पर विरोध जताया था . वहीं दिल्ली कांग्रेस के एक नेता ने कहा था कि दीक्षित और कार्यकारी अध्यक्षों ने कांग्रेस प्रमुख से अपील की है कि वह ‘आप’ से गठबंधन नहीं करें क्योंकि आगे चलकर पार्टी को इससे नुकसान पहुंच सकता है.

ये भी पढ़ें : लोकसभा 2019 : नई दिल्ली से माकन तो चांदनी चौक से सिब्बल होंगे उम्मीदवार, शीला पर मंत्रणा जारी