COVID-19 : नेपाल को लाइफ-सेविंग ‘रेमेडिसविर’ निर्यात करेगी भारत की ये तीन कंपनियां

तीन भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनियों ने COVID-19 रोगियों के इलाज के लिए इस्तेमाल होने वाली लाइफ सेविंग एंटी वायरल ‘रेमेडिसविर’ के साथ नेपाल को आपूर्ति शुरू कर दी है. औषधि प्रशासन विभाग के महानिदेशक नारायण प्रसाद ढकाल ने कहा, ”हमने रेमेडिसविर की आपूर्ति के लिए तीन कंपनियों की पुष्टि की है. माइलान, सिप्ला और हेटेरो ड्रग्स हमारी मांग के अनुसार दवाओं की आपूर्ति करेंगे.”

उन्होंने आगे कहा, ”उनमें से, माइलान ने नेपाल को एंटी वायरल की आपूर्ति शुरू कर दी है. सबसे पहले, हमने इसके 570 शीशियों का ऑर्डर दिया है और बांटा गया. भारतीय कंपनियों तक पहुंच आसान है और लागत भी कम आती है इसलिए हमने उनकी पुष्टि की.”

रेमेडिसविर उन रोगियों के लिए कारगर साबित हुआ है जिन्हें ICU में रखा गया और उन्हें डेंजर जोन से बाहर ले जाना है लेकिन नेपाल में यह उपलब्ध नहीं है. डीजी ढकाल ने कहा, “नेपाली बाजार में रेमेडिसविर की कीमत लगभग 7,800 नेपाली रुपये प्रति शीशी होगी. यह परिवार के अतिरिक्त खर्चों को भी बचाएगा.”

नेपाल की मेडिकल काउंसिल के निर्देश (COVID-19 के लिए अंतरिम क्लिनिकल गाइडेंस) ने प्राथमिक दवा के लिए रेमेडिसविर दवा को भी शामिल किया है. गंभीर अवस्था में आने वाले रोगियों के परिवार को विशेष व्यवस्था के तहत भारत से लाना पड़ता है, लेकिन स्थानीय बाजार में उपलब्धता के साथ, यह उनके खर्चों में बचत करेगा.

नेपाल के औषधि प्रशासन विभाग के महानिदेशक के अनुसार, भारतीय कंपनियां हमेशा नेपाल को ड्रग्स और फार्मास्यूटिकल्स निर्यात करने के लिए आगे रही हैं.