जाको राखे साइयां मार सके न कोय, पुलवामा हमले में जीवित बच निकला ये जवान

आए ठहरे और रवाना हो गए

ज़िंदगी क्या है, सफ़र की बात है…

सच में जिंदगी और मौत की चाबी ऊपर वाले के हाथ में है. जी हां! आज हम आपको ऐसे ही एक जवान के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पुलवामा हमले के बावजूद हमारे बीच आज जीवित मौजूद है.

कांस्टेबल सुरेंद्र यादव को सभी मृत समझ रहे थे, लेकिन वो ज़िंदा निकले और वो भी बिल्कुल सही सलामत. आप भी यहीं सोच रहे होंगें कि आखिर ये चमत्कार कैसे हुआ.

दरअसल, बातचीत के दौरान उन्होंने खुद ही बताया कि ‘एक दोस्त के कहने पर मैं दूसरी बस में बैठ गया और इस तरह से मेरी जान बच गई’.

ये भी पढ़ें : सालों बाद फिल्म ‘कलंक’ से फिर आए संजय दत्त और माधुरी करीब, पोस्टर रिलीज़

इसे आप ऊपर वाले का चमत्कार समझे या फिर कुछ और पर आपको बता दें कि हमले से चंद देर पहले तक सुरेंद्र उसी बस में सवार थे, जिसमें बाकि जवान.

हमले के बाद बस में शहीद हुए सैनिकों की लिस्ट बनाई जा रही थी, जिसमें से सुरेंद्र का नाम भी था. सैनिक के परिवार वालों ने भी उन्हें मृत समझ लिया था, लेकिन जब देवरिया से उसका परिवार श्रीनगर बॉडी की पुष्टि करने गया, तो उन्होंने पाया कि वो बॉडी उनकी नहीं थी और तब उन्हें उसके जीवित होने के बारे में पता चला.