जर्मनी ने मसूद अज़हर को ग्लोबल आतंकी घोषित कराने की पहल शुरू की, यूरोपीय यूनियन में रखेगा बात

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकवादी घोषित करने के लिए पहल की जा रही है. अब बताया जा रहा है कि जर्मनी भी इस कोशिश में लग गया है कि मसूद अज़हर को विश्व स्तर पर आतंकी करार कर दिया जाए. गौरतलब है कि राजनयिक सूत्रों ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी कि मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकवादी घोषित करने के लिए जर्मनी यूरोपीय यूनियन के सदस्य देशों के साथ बातचीत कर रहा है.

आपको बता दें कि अगर जर्मनी अपने प्रयास में सफल में होता है और यूरोपीय यूनियन देशो को राज़ी कर लेता है तो राजनयिक सूत्रों के मुताबिक यूरोपीय यूनियन के 28 देशों में मसूद अजहर की संपत्ति जब्त हो जाएगी साथ ही वो उन यूरोपीय देशो की यात्रा पर प्रतिबंध लग जाएगा. वहीं हाल ही में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन ने अड़ंगा लगाकर मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकवादी होने से रोक दिया था.

गौरतलब है कि जर्मनी अभी तक इस पर रिजॉलेशन नहीं लाया है, यह फ़िलहाल एक प्रस्ताव है जिसमे मसूद अज़हर को बैन करने की बात कही गई है.

सूत्रों के अनुसार यूरोपीय यूनियन के सभी 28 सदस्य देशों को पाकिस्तान-आधारित आतंकवादी संगठन पर प्रतिबंध का समर्थन करना होगा, क्योंकि इस तरह के फैसले सर्वसम्मति से संभव होते हैं.

मसूद अज़हर को बैन का प्रस्ताव पहले भी संयुक्त राष्ट्र रखा जा चुका है, लेकिन चीन ने अपनी वीटो का इस्तेमाल करते हुए इस प्रयास पर पानी फेर दिया. इस प्रस्ताव में कहा गया था कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर हथियारों के व्यापार और वैश्विक यात्रा से जुड़े प्रतिबंध लगाने के साथ उसकी परिसंपत्तियां भी जब्त की जाएं.

वहीं अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति से मौलाना मसूद अजहर पर हर तरह के प्रतिबंध लगाने की मांग की थी.