सर्दियों के मौसम में इन बंदरों के लिए स्वर्ग बन जाती है जापान की ये नदी

ये नज़ारा जापान के जिगोकुदानी के पास स्थित योकोयू नदी का है। इसे हैल वैली यानि नरक की घाटी भी कहा जाता है।

इस नदी का पानी सर्दियों में उबलने लगता है और इससे बड़ी तादाद में भाप उठती नज़र आती है।

जिस जगह से नदी मौजूद है, उसके चारों तरफ बेहद विशाल जंगल मौजूद है। ये जंगल सर्दियों के मौसम में जमा कर मार देने वाली ठंड की चपेट में रहता है।

इन्हीं जंगलों में पाये जाते हैं ये खास प्रजाती के बंदर, जिन्हें स्नो मंकी या फिर जापानी मकैक भी कहा जाता है।

ये बंदर जिगोकुदानी के जंगलों में रहते हैं। सर्दियों में यहां बेहद तगड़ी हिमवर्षा होती है। जिससे यहां चारों तरफ बर्फ ही बर्फ नज़र आती है। हर पेड़ बर्फ से ढक जाता है। ये बर्फ पूरे चार महीनों तक जमा रहती है।

ऐसे खतरनाक और जमा देने वाले माहौल में ये नदी इन बदंरों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। ये बंदर पूरे चार महीनों तक अपना दिन का अस्सी प्रतिशत समय इस नदी में खुद को गर्म रखते हुए बिताते हैं।

आपको बता दें कि स्नो मंकी इस जंगल के आस पास ही पाए जाते हैं और इनकी तादाद काफी कम भी है। ऐसे में इन्हें नदी में इस तरह पड़े रहते देखना बेहद दिलचप्स भी लगता है।

यही वजह है कि इस मौसम में कई दफा कई पर्यटक भी खासतौर पर नदी में बैठे स्नो मंकी के इन झुंडों को देखने के लिए यहां पर आते हैं।

जापान में इन बंदरों को संरक्षित प्रजाति घोषित किया गया है और इन्हें किसी भी तरह का नुकसान पहुंचाने पर कठोर सज़ा का प्रावधान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here