जब इफ्तार के दस्तरख्वान पर साथ बैठा पगड़ी वाला भारतीय सेना का जवान

रहमत और बरकत वाला महीना रमज़ान चल रहा है. इस्लामिक कैलेंडर का नौवां महीना रमजान सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है. रमजान कुर्बानी, समर्पण, सेवा और आस्था का प्रतीक माना जाता है. इसमें एक महीने तक इस्लाम में आस्था रखने वाले लोग पूरी शिद्दत से ख़ुदा की इबादत करते हैं.

रमजान अच्छे कामो के साथ, हर मुसलमान के लिए सब्र के इम्तिहान का महीना होता है. यही वजह इस महीने को नेकियों का माह भी माना जाता है. बताया जाता है की इस इस्लामिक महीने में कुरान शरीफ नाजिल की गई थी. जिसके वजह से इस महीने की खासियत और भी बढ़ जाती है. लेकिन इसकी खासियत और भी बढ़ जाती है जब दिन भर रोज़ा रखने के बाद शाम को इफ्तार के वक़्त आप के साथ दूसरे मज़हब का व्यक्ति भी बैठे. हालांकि आज के इस नफरत भरे समाज में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है. जहां छोटी से छोटी बात को धर्म से जोड़ कर नफरत की भीड़ खड़ी कर दी जाती है और उन्माद फैलाया जाता है.

वहीँ सोशल मीडिया पर एक ऐसी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमे भारतीय सेना के जवान एक साथ बैठ कर इफ्तार कर रहे हैं. इस इफ्तार वाली तस्वीर की ख़ास बात ये है कि इसमें एक पंजाबी जवान भी इफ्तार की दस्तरख्वान पर बैठ कर उसका लुत्फ़ उठा रहा है.सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये तस्वीर समाज को एक सकरात्मक सन्देश देने के साथ, ये दिली सुकून देने के लिए पर्याप्त है कि आज के इस नफरत भरे माहौल में भी इस तरह की एकता कायम है.

ये भी पढ़ें – आम चुनाव 2019 : क्या गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट पर बीजेपी दोहरा पाएगी जीत वाला इतिहास?