कुम्भ में फिर भीषण आग, लालजी टंडन के कैंप में लगी आग, सुरक्षित निकाले गए

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में जारी कुंभ में फिर एक खतरनाक हादसा हो गया , बताया जा रहा है इस हादसे में बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन बाल-बाल बचे. मंगलवार देर रात कुंभ में लालजी टंडन के कैंप में भीषण आग लग गई, इस घटना में टेंट पूरी तरह से जल गया. हादसा उस वक़्त हुआ जब लालजी टंडन टेंट में सो रहे थे. घटना में उन्हें तो कोई चोट नहीं आयी, लेकिन उनका मोबाइल, चश्मा, घड़ी और अन्य सामान जल गया.चश्मदीदों के अनुसार हादसा कुंभ के निकट नैनी में स्थित वीवीआइपी कैंप यमुना संकुल शिविर में मंगलवार रात 2:30 बजे में आग लग गयी. देखते ही देखते आग ने 3 वीआईपी टेंट को अपनी चपेट में ले लिया। यहीं एक टेंट में बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन भी रुके हुए थे. शोर मचने के बाद सुरक्षाकर्मियों द्वारा लालजी टंडन को सुरक्षित निकल कर और उन्हें तत्काल सर्किट हाउस में शिफ्ट कर दिया गया.

kumbh

ये भी पढ़ें : बिना शादी किए चुपचाप बुढ़ापे की तरफ बढ़ते जा रहे हैं ये सभी बॉलीवुड अभिनेता, चौथे नाम का हर कोई है दिवाना

पहले भी हो चुकी है कईं घटनाएं

इससे पहले भी कुम्भ में कई घटनाये हो चुकी है, कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के टेंट में आग लगने की खबर आयी थी, आग उस वक़्त लगी थी जब मुख्यमंत्री आपने नाथ समुदाय वाले टेंट शिविर में रुके थे. इस आग में करीब 2 टेंट जलकर खाक हुए थे, हालांकि किसी व्यक्ति को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था.
इसके अलावा भी 15 जनवरी, 2019 को शुरू हुए इस कुंभ से ठीक 1 दिन पहले दिगंबर अखाड़े के टेंट में आग लग गई थी. वहां पर सिलेंडर फटने के कारण हुई इस घटना में 10 टेंट जलकर खाक हो गए थे और जिसके बाद श्रद्धालुओं में अफरा-तफरी मच गई थी.

व्यवस्था पर हो रहे है सवाल

लगातार हो रही घटना अब सरकारी व्यवस्था पर सवाल कर रही है, एक तरफ जहा राज्य और केंद्र की बीजेपी सरकार कुम्भ को सफल बताने की लगातार कोशिश करती रही वहीँ दूसरी तरफ इस तरह की घटनाएं बार-बार सामने आ रही हैं. ऐसे में एक बार फिर कुंभ मेले में सुरक्षा व्यवस्था, प्रशासन के द्वारा की गई व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े हो रहे हैं.