जमानत याचिका लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे लालू यादव, कोर्ट ने CBI को जारी किया नोटिस

लोकसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान हो चुका है, और चुनावी तैयारियां भी जोरों पर हैं। पक्ष और विपक्ष दोनों ही ओर से ताबतोड़ रैलियों का दौर शुरू हो गया है। ऐसे में जेल की हवा खा रहे आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव भी चुनावी मौसम का मज़ा लेने की ख्वाहिश लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए।

कोर्ट ने लालू की इस याचिका पर सीबीआई को नोटिस जारी किया। कोर्ट ने एजेंसी से 2 हफ्ते में जवाब दाखिल करने को कहा है। लालू की ओर से दायर की गई इस याचिका में खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया गया है।

बता दें कि उन्हें अब तक चारा घोटाले के कुल 4 मामलों में सजा मिली है। इसमें से चाईबासा के सरकारी खजाने से पैसे निकालने के एक मामले में उन्हें जमानत मिल चुकी है। जबकि चाईबासा के ही एक दूसरे मामले के साथ देवघर और दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में वो अब भी जेल में है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच में पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि, लालू का स्वास्थ्य खराब है। वो लगभग 22 महीने से जेल में है। उन्हें जमानत दी जानी चाहिए। चीफ जस्टिस के सवाल किए जाने पर सिब्बल ने कोर्ट को बताया कि लालू को एक मामले में साढ़े 3 साल की सजा मिली है। एक में 5 साल की सजा मिली है और एक मामले में 7-7 साल की दो सजा मिली है, जो एक के बाद एक चलेंगी।

चीफ जस्टिस ने अपने साथी जजों से मशवरा करने के बाद मामले में नोटिस जारी कर दिया। बता दें कि इससे पहले 10 जनवरी को झारखंड हाईकोर्ट ने लालू की जमानत याचिका को ठुकरा दिया था।

ये भी पढ़ें- विपक्षी पार्टियों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जारी की EVM को लेकर चुनाव आयोग को नोटिस