महाराष्ट्र ने दिल्ली-NCR और 5 राज्यों को संवेदनशील करार दिया, यहां से आने वालों को दिखानी होगी नेगेटिव रिपोर्ट

कोविड-19 के मामलों में तेज वृद्धि को रोकने के लिए संघर्ष कर रहे महाराष्ट्र ने अन्य स्थानों से ‘कोरोना वायरस के अन्य स्वरूपों की आमद’ रोकने के लिए दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) तथा पांच राज्यों को संवेदनशील घोषित किया है. महाराष्ट्र के मुख्य सचिव सीताराम कुंते के हस्ताक्षर वाले एक आदेश में केरल, गोवा, गुजरात, दिल्ली एवं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, राजस्थान और उत्तराखंड को रविवार को संवेदनशील स्थान घोषित किया गया .

आदेश के अनुसार, इन स्थानों से महाराष्ट्र आने वाले यात्रियों को ट्रेन में यात्रा करने से पहले 48 घंटे के भीतर कराई गई आरटी-पीसीआर जांच की रिपोर्ट दिखानी होगी, जिनमें उनके संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हो. बयान में कहा गया कि महाराष्ट्र में कोविड-19 की रोकथाम और ‘अन्य स्थानों से महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के अन्य स्वरूपों की आमद को रोकने’ के लिए यह फैसला लिया गया है.

दिल्ली में रविवार को संक्रमण के एक दिन के भीतर अब तक से सर्वाधिक 25,462 नए मामले सामने आए. संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में रविवार को संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 68,631 नए मामले सामने आए और 503 मरीजों की मौत हो गई. वहीं, राजस्थान में रविवार को कोरोना वायरस से दो विधायकों के संक्रमित होने के साथ ही इस संक्रमण के रिकार्ड 10514 नये मामले आये है और संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,14,869 हो गई है. साथ ही, 42 और मरीजों की मौत हो जाने से इस महामारी के चलते अबतक 3151 लोगों की जान चली गई. राज्य में उपचाराधीन मरीज बढकर 67,387 हो गये हैं.

गुजरात की बात करें तो वहां पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 10,340 मामले सामने आये जो एक दिन में अब तक के सर्वाधिक मामले हैं और इनके साथ राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 4,04,569 पहुंच गयी. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को कहा कि प्रदेश में आज एक दिन में संक्रमण से मौत के भी सर्वाधिक 110 मामले सामने आये और कुल मृतक संख्या 5,377 हो गयी.