आज ही अपनाएं ये टिप्स मानसून से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए

 ऐसे में कुछ एहतियात अपनाकर आप बरसात में होनेवाली इन बीमारियों से अपना पीछा छुड़ा सकते हैं. आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये बीमारियां और क्यों

मानसून आने में ज्यादा समय बाकी नहीं है. जैसे ही ये गर्मियां जाएँगी मानसून का आगमन हो जायेगा. लेकिन ये मौसम आपके लिए बीमारियां भी लेकर आता है. इसमें बच्चे ही नहीं बड़े भी ऐसे मौसम में बीमार पड़ जाते हैं. ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती रहता है खुद को स्वस्थ रखना. ऐसे में आपको देखना जरुरी है कि आप क्या खा रहे हैं या कैसे रह रहे हैं. आइये जानते हैं क्यों पड़ते हैं बच्चे बीमार.

 दरअसल इस मौसम के दूषित पानी और नमीयुक्त वायु से शरीर की गर्माहट कम हो जाती है. गर्माहट कम होने से शरीर की पाचन क्रिया प्रभावित होती है.  साथ ही इस समय वायु और जल गंदा होता है, जिससे शरीर का पित्त प्रभावित हो जाता है. इसके अलावा गंदे वातावरण में स्पर्श से कफ पर भी असर पड़ता है. इस तरह बारिश के मौसम में वात, पित्त और कफ तीनों के प्रभावित हो जाने से बीमारी होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है.

 बारिश के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए गर्मी देने वाले पदार्थों का सेवन करना चाहिए जैसे मूंग की दाल, मट्ठा, नीम्बू, अंजीर और खजूर इत्यादि. पानी उबालकर ही पीना चाहिए. प्रतिदिन हरड़ के चूर्ण के साथ सेंधा नमक का सेवन करना चाहिए. अधिक वर्षा के दिनों में लवणयुक्त खट्टे पदार्थों का सेवन करना चाहिए. तेल लगाकर नहाना चाहिए. पहनने के वस्त्रों को अकसर धूप में सुखाना चाहिए.