FILM REVIEW – क्या भूत सच में डराता है ?

Film Critic Gaurav Rajoriya की रिपोर्ट :- फ्रेश कहानी के साथ डराने में कामयाब रही विक्की की भूत
कलाकार:विक्की कौशल, भूमि पेडनेकर, आशुतोष राणा
निर्देशक:भानु प्रताप सिंह
खबर चौराहा Rating – 3.5
बॉलीवुड में हॉरर फिल्में बनती रहती हैं, लेकिन उनमें याद रखने लायक इक्का-दुक्का ही हैं। दरअसल हॉरर जैसे रोमांचक विषय को बॉलीवुड में अब तक बहुत ढंग से पेश नहीं किया है।
Story Kya hai –
पृथ्वी (विक्की कौशल) एक शिपयार्ड कंपनी में अधिकारी है और उसकी पत्नी (भूमि पेडणेकर) और बेटी एक दुर्घटना में मारे गए थे। वह अपने दुखद अतीत से उबर नहीं पाता और उसे अभी भी अपनी बेटी और पत्नी दिखाई देते हैं। इसी बीच मुंबई के समुद्र तट पर एक बड़ा जहाज ‘सी-बर्ड’ भटक कर आ जाता है और रेत में फंस जाता है। इस बड़े जहाज में कोई भी नहीं है। न चालक दल, न कोई स्टाफ और न ही कोई अन्य इनसान। पृथ्वी का बॉस अग्निहोत्री (संजय गुरबक्सानी) रिटायर होने वाला है और वह चाहता है कि जल्दी से जल्दी यह जहाज समुद्र तट से रफा-दफा हो इसीलिए इस काम का जिम्मा मिलता है पृथ्वी और उसके दोस्त रियाज (आकाश धर) को।
Direction sahi hai ki nahi-
यह फिल्म शुरू में बॉलीवुड की ज्यादातर हॉरर फिल्मों से थोड़ी-सी अलग लगती है। कई दृश्य शरीर में सिहरन पैदा करते हैं, हालांकि फिल्म रोंगटे खड़ा कर देने वाले डर का माहौल नहीं रच पाती। फिल्म की पटकथा दमदार नहीं है क्यूंकि इसमें कई झोल हैं। निर्देशक के रूप में भानू प्रताप सिंह ठीक हैं, फिल्म को उन्होंने ठीक से पेश किया है, लेकिन लेखक के रूप में वह चूक गए है।
Technical Part-
पहले हाफ में यह फिल्म उम्मीदें जगाती है और लगता है कि कुछ अलग देखने को मिलेगा, लेकिन मध्यांतर के बाद यह बिखरने लगती है। फिल्म को कैसे आगे बढ़ाया जाए और एक रोमांचक कलाइमैक्स तक ले जाया जाए, इसका सूत्र लेखक-निर्देशक के हाथों से फिसल जाता है। हॉरर फिल्मों में बैकग्राउंड म्यूजिक की बहुत अहम भूमिका होती है इसीलिए इस लिहाज से फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक अच्छा है। सच कहें, तो यह बैकग्राउंड म्यूजिक ही है, जो फिल्म में डर का  माहौल रचता है।
Acting –
विक्की कौशल का अभिनय अच्छा है उन्होंने किरदार को ठीक से पेश करने में वह सफल रहे हैं। दुख, अवसाद और डर के भावों को उन्होंने सफलतापूर्वक अभिव्यक्त किया है। आशुतोष राणा तो ऐसी भूमिकाओं के लिए एक पसंदीदा नाम बन चुके हैं उन्होंने अपने करियर के शुरुआती दौर से उन्होंने ऐसी भूमिकाएं निभानी शुरू की थीं और ये सिलसिला आज तक जारी है। उनका काम ठीक है, लेकिन उनके किरदार को ठीक से नहीं गढ़ा गया है।
Why TO Watch – 
अगर हॉरर फिल्में पसंद करते हैं, तो इसे एक बार देखने में कोई बुराई नहीं है। यह फिल्म थोड़ा-बहुत तो डराती ही है।
Review में भूत: पार्ट वन को मिलते है 3.5 स्टार
Film Review:- Gaurav Rajoriya