एक देश ऐसा भी जहां खाली पड़ी है जेल, कोई अपराधी नहीं

आएं दिन हमे सुनने को मिलता हैं, देश की इस जेल में क्षमता से अधिक कैदी भरे या अब जेल में कैदियों को रखने की जगह नहीं है. अपराध भी उतना ही बढ़ गया है. लेकिन ऐसा देश भी जहां जेल को कैदी नहीं मिल रहें हैं और पुलिस को अपराध करने वाले.

दुनिया के हर कोने में अपराध कम ज़्यादा होता रहता है. लेकिन एक ऐस भी यूरोपियन देश है, जहां की जेल एकदम खाली पड़ी है. उस देश में कोई भी अपराधी नहीं बचा. यकीन नहीं हो रहा तो चलिए आप को बताते है, इस देश के बारे में.

जहां अन्य देशों की जेलों में मर्डरर, गुंडे, चोर, डकैत भरे रहते हैं और अपनी सज़ा काट रहे होते हैं. लेकिन वेस्टर्न यूरोप के देश नीदरलैंड्स में घटते क्राइम की दर के मुताबिक, वहां ही जेलें बंद होने की कगार पर हैं. नीदरलैंड्स की आबादी 1 करोड़ 71 लाख 32 हज़ार से ज्यादा है.

आपको बता दें कि, इस देश में 2018 के बाद कोई अपराधी नहीं बचा. वहीँ गौर करने की बात है कि नीदरलैंड्स के पास सलाखों के पीछे डालने के लिए कोई अपराधी नहीं है. 2013 में वहां केवल 19 कैदी थे.

2016 यूके में पब्लिश हुई एक रिपोर्ट के अनुसार, नीदरलैंड्स के न्याय मंत्रालय ने सुझाव दिया था कि अगले पांच सालों में यहां हर साल कुल अपराध में 0.9 प्रतिशत की गिरावट आएगी.

हालांकि इस जेल के बंद होने पर दो तरह के बदलाव होंगे। पहला ये की अपराध मुक्त देश हो जाएगा। दूसरा ये कि इस जेल में काम करने वाले बेरोज़गार हो जाएंगे।

यहां पर कैदियों के लिए इलेक्ट्रॉनिक एंकल मोनिटरिंग सिस्टम है. इलेक्ट्रॉनिक एंकल मोनिटरिंग सिस्टम में उनके पैर में एक ऐसी डिवाइस पहनाई जाती है, जिससे उनकी लोकेशन ट्रेस की जा सके.

ये डिवाइस एक रेडियो फ्रीक्वेंसी सिग्नल भेजता है. जिसमें अपराधियों की लोकेशन का पता चलता है. यदि कोई अपराधी किसी अनुमत सीमा से बाहर जाता है, तो पुलिस को सूचना मिल जाती है.

इसके कारण ही इस देश में अपराधियों की संख्या लगभग खत्म हो गई.