तेरहवीं में जाकर लोगों ने पी ली ज़हरीली शराब, एक ही गांव के 16 लोगों की मौत

ज़हरीली शराब पीने से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में कई दर्जन मौतें हो चुकी हैं। जहरीली शराब के शिकार कई लोग सहारनपुर, रुड़की, मेरठ और कुशीनगर से हैं। वहीं हरिद्वार में एक ही गांव के सोलह लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हो गई है।

Poisonous liquor

हरिद्वार के बल्लूपुर गांव में एक व्यक्ति की तेरहवीं में शामिल होने गए लोगों ने शराब पी। शराब पीने से तकरीबन दो दर्जन लोग बीमार पड़ गए।

अकेले बल्लूपुर गांव में ही जहरीली शराब पीने से सोलह लोगों की मृत्यु हो चुकी है। गांव के कई लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। इन लोगों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। इस घटना की पुष्टि उत्तराखंड के एक पुलिस अधिकारी ने की है। बल्लुपुर गांव में शराब पीने वाले 18 लोग सहारनपुर लौट गए थे और वहां उनकी मौत हो गई।

ये भी पढ़ें : आतंक के सफाये के लिए हर मदद को तैयार इजराइल

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया कि हरिद्वार के झबरेड़ा के बल्लूपुर गांव में तेरहवी मे शामिल होने आए लोगों को कच्ची शराब पिलाई गई थी।

शराब पीने के बाद इन सभी लोगों की हालत खराब हो गई। यहां मरने वाले सोलह लोगों में से ग्यारह लोग बल्लूपुर गांव के, और चार लोग आस-पास के गांवों के हैं।

वहीं पांच लोग बल्लूपुर गांव में शराब पीकर सहारनपुर वापस लौट गए थे। इन पांचों की भी मौत हो गई है। कच्ची शराब पीकर बीमार हुए लोगों को रुड़की में एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उधर उत्तर प्रदेश सरकार ने जहरीली शराब से होने वाली मौतों के बाद खोजबीन और छापेमारी के निर्देश दिए हैं। कुशीनगर में आबकारी विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम ने एक ढाबे पर खड़े ट्रक पर छापा मारकर भूसे में छिपाकर ले जाई जा रही शराब की सोलह सौ पेटियां बरामद की।