अलीगढ : बच्ची के साथ नहीं हुआ था रेप, उधार बना हत्या की वजह

aligarh

अलीगढ़ में जघन्य हत्या के बाद पुरे देश के लोगों में आक्रोश है. हर तरफ आरोपी को सजा दिलाने की मांग हो रही है. लोग बच्ची और उसके परिजन को न्याय दिलाने की मांग कर रहे हैं. इस बीच पुलिस ने मामले में एसआईटी बना दी है जो जांच करेगी. एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि पुलिस अपनी ओर से कोई कमी नहीं छोड़ेगी. मामला फास्टट्रैक कोर्ट में जाएगा और पीड़ितों को इंसाफ मिले इसके लिए पूरी कोशिश की जाएगी. वहीं सीएमओ ने कहा कि पोस्टमार्टम में रेप की पुष्टि नहीं हुई है.

आपको बता दें कि एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि आरोपी जाहिद और असलम का बच्ची के पिता से पैसों के लेनदेन को लेकर विवाद था. ये दोनों लोग मजदूर हैं और विवाद के बाद जाहिद ने बच्ची के पिता को धमकी दी थी. उन्होंने बताया कि पुलिस ने जाहिद को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया. उसने बताया कि उसने अपने साथी असलम के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था. एसएसपी ने बताया कि इन दोनों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी.

हालांकि पुलिस का कहना है कि ये कोई हेट क्राइम नहीं है. पुलिस ने ये भी बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची के साथ ना तो रेप हुआ है और ना ही लाश पर तेजाब डाला गया है जैसा कि सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है. इससे पहले शुक्रवार को इस मामले में एसएसपी ने इंस्पेक्टर केपी सिंह चहल सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था.

वहीं अलीगढ़ के सीएमओ एमएल अग्रवाल ने कहा कि तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया था जिसमें एक महिला डॉक्टर भी शामिल थीं. इस पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी की गई थी. वैसे तो रेप की पुष्टि नहीं हुई है लेकिन फिर भी एक अन्य जांच के लिए सैंपल पुलिस को दे दिया गया है.