पीएम मोदी ने कहा – धारा 370 और 35A को खत्म करने से जम्मू-कश्मीर को मिलेगा फायदा

सोमवार को भारतीय जनता पार्टी ने जबसे अपना संकल्प पत्र जारी किया है तबसे देश में धारा 370 और 35A को लेकर फिर से बहस शुरू हो गई है. इसी बीच प्रधानमंत्री मोदी ने एक न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि कश्‍मीर की समस्या बहुत पुरानी है. जब तक इन धाराओं को हटाया नहीं जाता, तब तक जम्मू कश्मीर का विकास मुश्किल है. वहीं पीएम मोदी ने पूर्व की सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले की सरकारों ने जम्मू-कश्मीर की समस्या को अनदेखा किया है, लेकिन अब वक्त गया है क‍ि इसका स्थायी हल निकाला जाना चाहिए.

वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर की शिक्षा व्यवस्था पर बात करते हुए कहा कि यहां से एक से बढ़कर एक टॉपर्स बच्चे निकल रहे हैं. पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज हिंदुस्तान की टॉप यूनिवर्सिटी में कोई न कोई कश्मीरी बच्चा पढ़ता है. वहां विकास के लिए बजट में कभी कोई कमी नहीं आई. ऐसे में कश्मीर को लेकर सिर्फ दृष्टिकोण बदले की जरूरत है.

प्रधानमंत्री ने अपने इंटरव्यू में कहा कि कश्मीर में पथरबाज़ों को पाकिस्तान से समर्थन मिलता है. वहीं जब सुरक्षा एजेंसी जब इन आतंकी समर्थकों को पकड़ने के लिए जाती है, तो कुछ लोग उनके घर सामने खड़े हो कर तालियां बजाते है. इसलिए कश्मीर के लोग को ऐसे राजनीतिक परिवारों से आज़ादी चाहते है, जो पिछले 50 साल उनकी भावनाओं से खेलते आ रहे हैं. पीएम मोदी ने आगे कहा कश्मीर की स्थिति अब ये है कि यहां के लोग बदलाव चाहते हैं.
चाहे आर्टिकल 35ए का मामला हो या 370 का.

वहीं प्रधानमंत्री ने एक बार फिर नेहरू पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की नीतियां जम्मू-कश्मीर के लिए एक बाधा थीं, उनको फिर से ध्यान देने की ज़रूरत है.