पुलवामा के शैतान आदिल का पिता बोला- 12वीं की परीक्षा देने वाला था बेटा, जम्मू गया और फिर कभी नहीं लौटा

pulwama attacker

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जिस जैश ए मुहम्मद के आतंकवादी ने सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला कर खौफनाक वारदात को अंजाम दिया, उसके पिता का कहना है कि उन्हें नहीं मालूम था कि उनका बेटा आतंकी गतिविधियों में लिप्त था। आतंकी आदिल हुसैन डार के पिता गुलाम मोहम्मद ने कहा कि बेटे के आतंकी बनने और आत्मघाती मिशन के बारे में उन्हें पुलवामा हमले के बाद पुलिस से पता चला।

ये भी पढ़ें : जैश कर रहा है कश्मीर को दहलाने की तैयारी, लोकल आतंकियों को बम बनाने की दी जा रही है ट्रेनिंग

गुलाम मोहम्मद के अनुसार, आदिल 12वीं की परीक्षा देने वाला था। वो घर से जम्मू जाने की बात कहकर निकला था, लेकिन कभी वापस लौटकर नहीं आया। बकौल गुलाम मोहम्मद, उन्हें इस बात का ज़रा भी अंदेशा नहीं था कि उनका बेटा इतनी खतरनाक आतंकी गतिविधि में लिप्त होगा।

3 साल पहले हुआ था लापता

19 मार्च 2016 को आदिल हुसैन डार पुलवामा के गुंडीबाग इलाके से अपने दो दोस्तों, तौसीफ और वसीम के साथ गायब हो गया था। तौसीफ का बड़ा भाई मंजूर अहमद डार भी सुरक्षाबलों से हुई एक मुठभेड़ में मारा गया था।

आदिल एक स्थानीय मस्ज़िद में अजान दिया करता था। वो ज़्यादा पढ़ा लिखा नहीं था। पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला करने के बाद आदिल के शव के चिथड़े उड़ गए। परिवार को आदिल का शव भी नहीं मिल पाया।

1 साल पहले हुआ था जैश में शामिल

हमले के बाद जारी किए गए एक वीडियो में आदिल कहता हुआ नज़र आ रहा है कि वो एक साल से जैश में शामिल हुआ था। वीडियो में आदिल को कहते हुए सुना जा रहा है कि जिस वक्त ये वीडियो आप तक पहुंचेगा, उस वक्त मैं जन्नत में मज़े लूट रहा होउंगा। कश्मीर के लोगों को ये मेरा आखिरी संदेश है।

आपको बता दें कि आत्मघाती हमलावर आदिल हुसैन डार ने विस्फोटकों से भरी एक कार को सीआरपीएफ के काफिले में शामिल जवानों से भरी एक बस से टकरा दिया था। टक्कर के बाद हुए ज़बरदस्त धमाके में कार सहित बस के भी परखच्चे उड़ गए थे। घटना के बाद आतंकी संगठन जैश ए मुहम्मद ने आदिल का वीडियो जारी कर इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी।