शिवराज की मौजूदगी में साध्वी प्रज्ञा बीजेपी में शामिल, भोपाल से मिल सकता है टिकट

लोकसभा चुनाव की तारीखें जब से तय हुई थी, सियासी दल उम्मीदवारों की घोषणा के साथ ही साथ नए चेहरों को पार्टी से जोड़ रहे है. इसी कड़ी में खबर है कि साध्वी प्रज्ञा भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई हैं.

गौरतलब है कि मालेगांव बम धमाकों की आरोपी रहीं साध्वी प्रज्ञा ने बुधवार को बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता ले ली है. वहीं सूत्रों के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी उन्हें भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतार सकती है. हालांकि इसकी चर्चा पहले से ही थी कि साध्वी प्रज्ञा बीजेपी में शामिल हो सकती है।

आपको बात दें कि ये चर्चा उस वक़्त सुर्ख़ियों में बदल गई, जब साध्वी प्रज्ञा भोपाल स्थित बीजेपी दफ्तर पहुंचकर शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की, जिसके बाद इन अटकलों ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है. वहीं एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने के बाद, साध्वी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि मैंने भाजपा की सदस्यता ले ली है और मैं चुनाव लड़ूंगी और जीतूंगी. वहीं बुधवार को मध्यप्रदेश बीजेपी की बैठक हुई, जिसमे लोकसभा चुनाव प्रभारी स्वतंत्र देव सिंह, विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रभात झा, सतीश उपाध्याय, बृजेश लुनावत मौजूद रहे

साध्वी उस वक़्त सुर्ख़ियों में आई, जब 2008 बम धमाके में उनके शामिल होने की खबर आई थी. इसके बाद उनको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने 9 साल जेल में काटे. हालांकि बाद में उनको उस केस से बरी कर रिहाई दे दी गई. वहीं साध्वी प्रज्ञा ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम ने ‘हिंदू आतंकवाद’ का जुमला गढ़ा और इस नैरेटिव को सेट करने के लिए उन्हें झूठे केस में फंसाया.

आपको बात दें कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर कांग्रेस पर हमलवार रहती है. वहीं साध्वी प्रज्ञा का एबीवीपी और दुर्गा वाहिनी से जुड़ाव रहा है. देखना होगा कि साध्वी की इस हिंदुत्व छवि का फायदा उठाने में इस लोकसभा चुनाव में कामयाब होती है.