भारत की इस जगह पर एक साथ देखिए दुनिया के सातों अजूबे

क्या आप दुनिया के सातों अजूबों का दीदार करना चाहते हैं? अगर हां, तो अब आपको इसके लिए उन देशों में जाने की आवश्यता नहीं पड़ेगी, जहां सभी सातों अजूबे मौजूद हैं। अब आप भारत में ही इन सभी अजूबों को देख पाएंगे। जी हां, राजधानी दिल्ली के सराय काले खां बस टर्मिनल के पास वंडर्स ऑफ द वर्ल्ड पार्क तैयार हो चुका है। जल्द ही ये पार्क जनता के लिए खोल दिया जाएगा। इस पार्क में आप दुनिया के सभी सात अजूबों की रेप्लिका यानि प्रतिरूप देख पाएंगे। इस पार्क की खास बात ये है कि इसमें बने सभी सातों अजूबे कबाड़ और रद्दी से बने हैं।

क्या ख्याल है इस ताजमहल के बारे में?

taj mehal

ये ताजमहल भले ही आगरा के ताजमहल की तरह संगमरमर से ना बना हो, लेकिन खूबसूरती के मामले में ये आगरा के ताजमहल से ज़रा भी कम नहीं है। इस ताजमहल की सबसे खास बात हैं इसकी मीनारें, जो साइकिल के पुर्जों से बनी हैं।

गीजा के पिरामिड भी दिखेंगे

giza peramid

इस पार्क में आने वाले लोगों को गीजा के महान पिरामिड भी देखने को मिलेंगे। ये भी कबाड़ से ही तैयार किए गए हैं।

अब दिल्ली में देखिए स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी

Statue of liberty

इस पार्क मे जाकर लोग स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी भी देख सकेंगे। यानि अब न्यूयॉर्क जाकर स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी देखने की कोई आवश्यकता नहीं।

पीसा की झुकी मीनार भी दिल्ली में

minaar

पीसा की झुकी मीनार यानि लीनिंग टावर ऑफ पीसा को भी पार्क में देख पाएंगे। ये मीनार यूं उतनी ऊंची नहीं है, जितनी की असली मीनार है। लेकिन कबाड़ से बनी इस मीनार की ऊंचाई भी तीस फीट है।

ब्राजील का क्राइस्ट ऑफ रीडीमर भी

Christ of redeemer

ब्राजील के शहर रियो डी जेनेरियो में मौजूद ईसा मसीह की मूर्ति बेहद लाजवाब और खूबसूरत है। दिल्ली के वर्ल्ड्स ऑफ वंडर्स में मौजूद ये मूर्ति पुराने आयरन बेंच से तैयार की गई है।

पेरिस का आइफिल टावर

The Eiffel Tower of Paris

अब आप पेरिस के आइफिल टावर को भी दिल्ली में ही देख सकेंगे। पेरिस में मौजूद आइफिल टावर की ऊंचाई एक हज़ार तिरसठ फीट है। लेकिन यहां पर आप उसकी छोटी रेप्लिका को देख पाएंगे, जिसकी ऊंचाई सत्तर मीटर है।

रोम का कोलोसियम भी

Colosseum of Rome also

रोम के कोलोसियम की रेप्लिका भी इस पार्क में मौजूद है। इस रेप्लिका के सामने एक बोर्ड लगाया जाएगा, जिस पर ये बताया जाएगा कि इसको बनाने में किस स्क्रैप का प्रयोग किया गया है।

कितनी होगी पार्क को देखने की फीस?

park

आपको बता दें कि ये पार्क बनाने का आईडिया कोटा से आया है। कोटा में भी ऐसा ही एक पार्क मौजूद है। इस पार्क को बनाने में 7.5 करोड़ रुपए की लागत आई है। पार्क में एंट्री करने के लिए आपको सिर्फ बीस रुपए खर्च करने पड़ेंगे। इस रकम से इस पार्क को मैंटेन किया जाएगा।