यौन उत्पीड़न की शिकार अभिनेत्री की हाईकोर्ट से गुहार- ट्रांसफर करें ट्रायल केस

साल 2017 में यौन उत्पीड़न का शिकार हुई अभिनेत्री ने केरल हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है अपने अंडर ट्रायल केस को एरनाकुलम कोर्ट से ट्रांसफर करने की मांग की है. अभिनेत्री ने अपने आवेदन में कहा है कि वह मुकदमे के दौरान अदालत के पक्षपाती और शत्रुतापूर्ण रवैये से तंग आ चुकी है.

याचिका में आरोप लगाया गया है कि अभियोजन पक्ष की निश्चित समय पर सुनवाई नहीं हुई और उसे बेवजह वक्त दिए गए. अन्य आरोपों के साथ ही यह भी कहा गया है कि बार-बार अपील के बावजूद साक्ष्य के कुछ अंशों को रिकॉर्ड नहीं किया गया. मीडिया रिपोर्टिंग पर कड़े प्रतिबंधों के साथ कैमरे की निगरानी में ट्रायल कोर्ट में कार्यवाही की गई है. अपनी याचिका में, पीड़िता ने कहा कि अदालत इन-कैमरा परीक्षण की भावना को बनाए रखने में विफल रही है.

अभिनेत्री का आरोप है कि साल 2017 के फरवरी में जब वह कोच्चि जा रही थी, तभी रास्ते से अगवा कर लिया गया और उसके साथ यौन दुराचार किया गया. आरोप के मुताबिक चार लोगों ने उस पर हुए हमले का वीडियो भी बनाया था. इस मामले में कुल दस आरोपियों में अभिनेता दिलीप का भी नाम शामिल है. दिलीप पर आपराधिक षडयंत्र रचने और अभिनेत्री को अगवा करने और यौन उत्पीड़न के आरोप हैं.

दिलीप केरल के सुपरस्टार हीरो हैं और उन्हें नंबर तीन का सुपरस्टार समझा जाता है. जुलाई 2017 में इस मामले में उनकी गिरफ्तारी हुई थी. दिसंबर 2018 में केरल हाईकोर्ट ने सीबीआई से जांच कराने की उनकी मांग ठुकरा दी थी. अभिनेता ने फर्जी मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी. इस साल जनवरी में सुप्रीम कोर्ट ने दिलीप के खिलाफ ट्रायल पर रोक की याचिका खारिज कर दी थी. सेशन कोर्ट ने भी उसकी डिस्चार्ज याचिका खारिज कर दी जिसमें  कहा गया था कि उसका नाम आरोपियों की सूची से हटा दिया जाए.