जिस रंग की पगड़ी उस रंग की रॉल्स रॉयस खरीद लेते हैं ये सरदार जी

लंदंन के एक सिख बिजनेसमैन ने जब छह रॉल्स रॉयस एक साथ खरीदी तो खुद रॉल्स रॉयस के सीईओ टॉटस्टर्न अपने इस पक्के ग्राहक को गाड़ियों की डिलिवरी देने पहुंचे। इस बिजनेसमैन का नाम है रुबेन सिंह और अब उनके काफिले में 20 रॉल्स रॉयस कारें हो चुकी हैं। रुबेन ने छह नई रॉल्स रॉयस खरीदने के लिए पूरे पचास करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

रुबेन सिंह की खास बात ये है कि वो जिस दिन जिस रंग की पगड़ी पहनते हैं, उस दिन उसी रंग की रॉल्स रॉयस कार चलाते हैं। आज उनके काफिले में रॉल्स रॉयस कलिनन, रॉल्स रॉयस फैंटम और कई अन्य लग्ज़री गाड़ियां हैं। यूं तो रुबेन सिंह रॉल्स रॉयस को लेकर अपने शौक के चलते पहले ही काफी मशहूर हैं, लेकिन एक साथ छह रॉल्स रॉयस खरीदने के बाद रुबेन सिंह इन दिनों फिर से सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं।

रुबेन सिंह आखिर क्यों रॉल्स रॉयस के इतने दिवाने है? क्यों रुबेन सिंह करोड़ों रुपए खर्च कर रॉल्स रॉयस ही खरीदते हैं? इसके पीछे की कहानी बेहद दिलचस्प है। दरअसल रुबेन सिंह अपने शौक के लिए नहीं, बल्कि एक अंग्रेज को सबक सिखाने के लिए रॉल्स रॉयस गाड़ियां खरीदते हैं।

रुबेन सिंह की कहानी शुरू होती है नब्बे दशक से। उस वक्त रुबेन सिंह लंदन में कपड़ों का बिजनेस करते थे। रुबेन ने महज़ 17 साल की उम्र में ये बिजनेस शुरू किया था। उस दौर में रुबेन सिंह का कपड़ों का ब्रांड ब्रिटेन के बड़े ब्रांड्स में शामिल होता था। रुबेन सिंह का कपड़ों का बिजनेस सही चल रहा था, लेकिन साल 2007 में उन्हें इस बिजनेस में बड़ा घाटा हुआ। ना चाहते हुए भी रुबेन सिंह को अपना वो बिजनेस बंद करना पड़ना।

रुबेन सिंह के इस खराब वक्त में ही एक अंग्रेज ने उनकी पगड़ी का मज़ाक उड़ाया था। अंग्रेज ने रुबेन को कहा था कि तुम सिर्फ रंग-बिरंगी पगड़ियां ही पहन सकते हो। उस अंग्रेज की ये बात रुबने सिंह को चुभ गई और उन्होंने उसी वक्त कसम खाई कि वो फिर से अपने बिजनेस को खड़ा करेंगे।

रुबेन ने उस अंग्रेज को, जो कि एक बिजनेसमैन भी था, से ये चैलेंज किया कि वो जितने रंग की पगड़ियां पहनते हैं उतने रंग की ही रॉल्स रॉयस खरीदेंगे। आज रुबेन ने उस अंग्रेज को दिया अपना चैलेंज पूरा किया। रुबेन ने फिर से अपने बिजनेस खड़ा किया। आज रुबेन के पास कई शानदार लग्ज़री गाड़ियां हैं।

रुबेन का बिजनेस अब कई देशों में फैला हुआ है। लोग उन्हें ब्रिटिश बिल गेट्स के नाम से भी जानते हैं। रुबेन आज ऑलडेपा कंपनी के सीईओ हैं। पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर ने उन्हें गर्वनमेंट एडवाइजरी कमेटी का सदस्य भी बनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here