SBI: 3 दिन में बदल जाएंगें ये 5 नियम, करोड़ो ग्राहकों को होगा फायदा

आर्थिक सुस्ती दूर करने के लिए मांग और उपभोग बढ़ाने की सरकार की योजना परवान चढ़ने लगी है। इस मुहिम में बैंकों ने सस्ता कर्ज देना शुरू कर दिया है। एसबीआई (SBI) ने पहल कर त्योहारी सीजन में घर, शिक्षा वाहन और निजी जरूरतों के लिए सस्ते कर्ज की पेशकश की है। दूसरे बैंक भी जल्द ऐसा कर सकते हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 1 सितंबर यानी 3 दिन के बाद से ग्राहकों को घर, दुकान, वाहन और शिक्षा के लिए सस्ते कर्ज के साथ कई अन्य फायदे भी देगा। इसमें प्रोसेसिंग फीस से छूट, प्री एप्रूव्ड ऑनलाइन लोन शामिल हैं।

एसबीआई ने कहा है कि कार लोन में ब्याज वृद्धि भी नहीं की जाएगी। इससे ग्राहकों को कर्ज की दरों में उतार-चढ़ाव का सामना नहीं करना पड़ेगा। पैसा बाजार के सीईओ व सह संस्थापक नवीन कुकरेजा ने कहा कि बैंक और एनबीएफसी त्योहार में आकर्षक पेशकश कर रहे हैं। बैंकों के पास पर्याप्त पूंजी है। यह समय ग्राहकों के लिए वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए बेहतर है। रेपो दर आधारित कर्ज स्कीम भी ग्राहकों के लिए फायदेमंद है।

गौरतलब है कि एसबीआई ने एक जुलाई से सबसे पहले सस्ते कर्ज की रेपो दर आधारित ब्याज दर स्कीम शुरू की है। आठ अन्य सरकारी बैंकइसका ऐलान कर चुके हैं। ओरियंटल बैंक ने मंगलवार को कहा कि वह रेपो दर आधारित ब्याज पर आवास एवं वाहन ऋण देगा। उसका आवास ऋण 8.35 प्रतिशत से जबकि वाहन ऋण 8.70 प्रतिशत से शुरू है।

कार : योनो एप से 0.25 % की अतिरिक्त छूट मिलेगी 
स्टेट बैंक ने त्योहारी मौसम में कार के लिए कर्ज पर प्रसंस्करण शुल्क हटा लिया है। बैंक 8.70 प्रतिशत की शुरुआती ब्याज दर पर कर्ज दे रहा है। बैंक की वेबसाइट या डिजिटल मंच योनो के जरिये कार कर्ज के आवेदकों को ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी।

घर : सबसे सस्ती पेशकश 
एसबीआई ने कहा कि बैंक ने रेपो दर आधारित कर्ज के रूप में 8.05 प्रतिशत की ब्याज दर से सबसे सस्ते गृह ऋण की भी पेशकश की है। यह दर एक सितंबर से सभी मौजूदा और नए कर्ज पर लागू होगी। वहीं कर्ज तय करने की मौजूदा पद्धति के तहत एसबीआई ने एमसीएलआर में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है।

शिक्षा ऋण : 1.5 करोड़ रुपये तक का कर्ज
एसबीआई ने कहा कि देश में पढ़ने के लिए 50 लाख रुपये तक और विदेश में पढ़ने के लिए 1.50 करोड़ रुपये तक का कर्ज 8.25 प्रतिशत की दर पर उपलब्ध होगा। कर्ज वापस करने की अवधि 15 साल होगी, जिससे अभिभावक पर ज्यादा आर्थिक बोझ नहीं पड़ेगा। एसबीआई का एजुकेशन लोन भी दूसरों के मुकाबले काफी सस्ता पड़ता है।

पर्सनल लोन : लंबी अवधि 
बैंक अपने ग्राहकों को 20 लाख रुपये तक का व्यक्तिगत कर्ज (पर्सनल लोन) 10.75 प्रतिशत की ब्याज दर पर देगा। इससे दुकान, कारोबार या अन्य जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा। कर्ज को चुकाने की अवधि भी बढ़कर छह साल होगी। इससे ग्राहकों पर ईएमआई का बोझ कम होगा।

59 मिनट में कर्ज की स्कीम में होम और ऑटो लोन 
सरकारी बैंक जल्द ही 59 मिनट में कर्ज देने के पोर्टल (पीएसबीलोन्स इन59मिनट्स) के तहत जल्द ही ग्राहकों को होम लोन और ऑटो लोन भी देंगे। फिलहाल पोर्टल में सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्योगों को इस योजना के तहत एक करोड़ रुपये तक के कर्ज की सैद्धांतिक स्वीकृति देता है। एसबीआई, यूनियन बैंक और कॉरपोरेशन बैंक तो पोर्टल से पांच करोड़ रुपये तक का कर्ज दे रहे हैं। बैंक ऑफ इंडिया और ओवरसीज बैंक ने कहा कि वे जल्द ही पोर्टल के तहत अन्य ग्राहकों को भी कर्ज देंगे।

– 5 लाख का प्री एप्रूव्ड लोन वेतनभोगी खाताधारकों को योनो एप के जरिये पांच लाख रुपये तक का प्री एप्रूव्ड ऑनलाइन कर्ज की पेशकश भी करेगा।

– 90 फीसदी तक लोन कार की ऑन रोड कीमत का ग्राहकों को

– 8.70 की शुरुआती ब्याज दर पर कार लोन