पाकिस्तान के दिल में खौफ भरना चाहता है चम्बल का ये पूर्व डाकू, सरकार से मांगी अनुमति

पुलवामा हमले की साज़िश में जबसे पाकिस्तान का नाम आया है, लोग सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्यवाई की मांग करते हुए प्रदर्शन कर रहें हैं. इसी बीच चम्बल के शेर कहे जाने वाले पूर्व कुख्यात डाकू मलखान सिंह ने सरकार के सामने एक मांग रखते हुए कहा है की अगर सरकार कहे तो हम बिना शर्त, बिना वेतन पाकिस्तान से युद्ध के लिए तैयार हैं.

 former bandit of Chambal

पूर्व कुख्यात डाकू मलखान सिंह कभी बीहड़ का वो खौफ माना जाता था, जिसके डर से अच्छे-अच्छे अपना रास्ता बदल लेते थे. आपको बता दें कि मलखान सिंह पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने कानपुर आए हुए थे. इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से मिलकर अपनी इच्छाओं को उनके सामने रखा. उन्होंने कहा कि वो अपने साथियों के साथ सीमा पर जाकर पाकिस्तान से युद्ध लड़ने को तैयार हैं और साथ ही कहा कि मध्यप्रदेश में अभी 700 बागी ज़िंदा हैं. जो उनके साथ पाकिस्तान से युद्ध के लिए तैयार हैं.

ये भी पढ़ें : MFN दर्जा छीनने से होगा भारत का ही नुकसान, पाकिस्तान पर नहीं होगा खास असर

मलखान सिंह की कहना था की वो युद्ध में जाने के लिए हर तरीके से तैयार हैं. अगर ज़रूरत पड़ी तो जान भी देने से पीछे नहीं हटेंगे. आगे उन्होंने कहा की वो इस बात को लिख कर भी देने को तैयार हैं कि अगर वे जंग में मारे गए तो सरकार का कोई अपराध नहीं होगा. अगर वो इस वादे से पीछे हटे तो वो अपना नाम बदल देंगे.

चम्बल के शेर कहे जाने वाले पूर्व कुख्यात डाकू मलखान सिंह ने कहा पुलवामा हमले का बदला जरूरी है. अगर मां भवानी का आर्शीवाद रहा तो कोई मलखान सिंह का बाल भी बांका नहीं कर सकता.