4 दिन पहले तक राजनीति के डोरेमोन-नोबिता थे, जूता चलाने वाले सांसद-विधायक

कल तारीख थी 6 मार्च पर आप भी सोच रहे हैं होंगे की तारीख जानकर आप क्या करें तो आपको बता दें कि बीजेपी के कुछ लोगों के लिए तो ये बिल्कुल अच्छी नहीं साबित हुई अगर खबरों के ज्ञानी हैं तो समझ ही गए होंगे.

दरअसल मामला कल का है संतकबीरनगर में जिला योजना की बैठक में बीजेपी सांसद और बीजेपी विधायक में बहस हो गई. जिसके बाद क्या था सांसद शरद त्रिपाठी ने जूता निकालकर विधायक राकेश सिंह बघेल को सूत दिया. दे दना दे दना चालू हो गए…

आखिर क्यों चले जूते :

तो आपको बताते चलें बहस और इस जूतेबाजी की वजह थी एक सड़क और उसके उद्धाटन का पत्थर. सड़क बनी थी मेहदावल विधानसभा के नंदौर इलाके में. तो इस पत्थर पर सांसद का नाम नहीं था. और इसी को लेकर वो मीटिंग में एक्सईएन से जवाब मांग रहे थे. विधायक बोले- जवाब मुझसे मांगो और जूता-लात की नौबत आ गई. पर आप ताज्जुब महसूस करेंगे कि यही सांसद चार दिन पहले विधायक के साथ घूम रहे थे. ऐसा दोस्ताना था की आपको भी शक हो जाता.

मेंहदावल विधानसभा में आज माननिय विधायक राकेश सिंह बघेल के साथ बाईक रैली के दौरान।

Posted by Sharad Tripathi on Friday, March 1, 2019

ये तारीख थी 2 मार्च. और कहानी भी 2 मार्च की ही है मेहदावल विधानसभा में बीजेपी की एक बाइक रैली निकली थी. इसमें सांसद शरद त्रिपाठी भी थे. विधायक राकेश सिंह बघेल भी थे. समर्थक दोनों के जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. और तो और दोनों एक ही बाइक पर घूम रहे थे. श्रीकृष्ण की तरह विधायक राकेश सारथी बने हुए थे और सांसद शरद पीछे बैठे थे. यही तो राजनीति की खूबी है. आपको बता दें कि खुद सांसद शरद त्रिपाठी ने अपने पेज पर ये फोटो शेयर की थीं. देख लीजिए.

ये भी पढ़ें : खबर आई है…अभिनंदन की वर्दी को पाकिस्तान ने म्यूज़ियम में सजा लिया है?

ताजा खबरों के संसार के लिए खबर चौराहे के चक्कर लगाते रहें. यहां का मामला एकदम जबर है क्योंकि हम हैं सच के साथ और झूठ के खिलाफ.